ALL political social Entertainment health tourism crime religious Sports National Other State
निशिकांत दुबे ने की झारखंड सरकार को बर्खास्त करने की मांग, बोले- लगना चाहिए राष्ट्रपति शासन
February 6, 2020 • Geeta Bisht & Dr. Naresh Kumar Choubey • political

नयी दिल्ली। लोकसभा में बुधवार को भाजपा के एक सदस्य ने झारखंड में हाल ही में निर्वाचित झामुमो-कांग्रेस नीत सरकार पर राज्य में नक्सलवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाते हुए राज्य सरकार को बर्खास्त कर वहां राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की। झारखंड के गोड्डा से भाजपा सदस्य निशिकांत दुबे ने शून्यकाल में इस विषय को उठाते हुए कहा कि राज्य में झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस के गठबंधन वाली सरकार के आने के बाद पश्चिम सिंहभूम के एक गांव में सात आदिवासियों की नृशंस हत्या कर दी गयी लेकिन मौजूदा राज्य सरकार ने और कांग्रेस पार्टी ने इस पर एक शब्द भी नहीं बोला।

 

उन्होंने कहा कि राज्य में विकास विरोधी ताकतों और अफीम उत्पादकों ने 2016 में पत्थलगढ़ी आंदोलन शुरू किया था जिसके खिलाफ तत्कालीन राज्य सरकार ने उन पर मामला दर्ज किया था। दुबे ने कहा कि राज्य में झामुमो और कांग्रेस की सरकार आने के बाद उस मामले को खत्म कर दिया गया और राज्य में नक्सलवाद तथा आतंकवाद को बढ़ावा दिया जा रहा है जिसके परिणामस्वरूप ये ‘नृशंस हत्याएं’ की गयीं।

उन्होंने कहा कि आदिवासियों के सम्मान में झारखंड के सदस्यों ने आज संसद भवन परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष धरना दिया। भाजपा सांसद ने केंद्र सरकार से मांग की कि नक्सलवाद को बढ़ावा देने वाली झामुमो-कांग्रेस नीत झारखंड सरकार को बर्खास्त किया जाए, न्यायिक जांच की जाए और राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जाए।