ALL political social Entertainment health tourism crime religious Sports National Other State
ISIS के शैतानों का गढ़ बना दिल्ली का शाहिन बाग : तरूण
January 30, 2020 • Geeta Bisht & Dr. Naresh Kumar Choubey • political

 

एल.एस.न्यूज नेटवर्क, नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा के चुनाव का केंद्र बना शाहीन बाग हर नेता की जुबान पर चढ़ गया है। बीजेपी, कांग्रेस, आप सहित सभी राजनीतिक दल लगातार अपना-अपना पक्ष रख रहे हैं। बीजेपी शाहीन बाग को बनाने के पीछे कांग्रेस और आप को जिम्मेदार ठहरा रही हैं वहीं आम आदमी पार्टी मोदी सरकार को शाहिन बाग में धरना अड्डा बनाने का करण मान रही हैं। आप का आरोप है कि सरकार शाहिन बाग के प्रदर्शनकारियों से बात नहीं करना चाहती। सीएए-एनआरसी के विरोध कर कहे शाहिन बाग के प्रदर्शनकारियों का प्रदर्शन अब पूरी तरह से सियासत का अड्डा बन गया है। अमित शाह के बाद भाजपा के मंत्री भी शाहिन बाग को लेकर बयानबजी करने लगे हैं।

पहले शाहिन बाग को दूसरा पाकिस्तान कहा जा रहा था अब बीजेपी के नेता ने शाहिन बाग की तुलना आई एस आई एस के गढ़ से कर दी हैं। बीजेपी के सहप्रभारी तरुण चुघ ने जुबान पर बिना लगाम लगाए शाहिन बाग पर विवादित दे दिया। तरुण चुघ ने ट्वीट किया है, 'हम दिल्ली को सीरिया नहीं बनने देंगे और उन्हें (शाहीन बाग के निवासी) यहां आईएसआईएस जैसा मॉड्यूल चलाने की अनुमति नहीं देंगे, जहां महिलाओं और बच्चों का इस्तेमाल किया जाता है। वे मुख्य मार्ग को बंद करके दिल्ली के लोगों के मन में भय पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। हम ऐसा नहीं होने देंगे। बीजेपी के सहप्रभारी तरुण चुघ ने आगे लिखा कि. #DeshKeGaddaronKoGoliMarosalonko गलत नहीं है। भारत की अखंडता को किसी को भी तोड़ने नहीं देंगे है। शाहीन बाग के मतलब शैतान बाग है। जैसे ISIS ने महिलाओं,बच्चों का इस्तेमाल किया है ये भी उसी मॉड्यूल को अपना रहे हैं।

भारत में हाफिज सईद के विचारों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वहीं सीएए- एनआरसी का विरोध कर रहे शाहिन बाग में प्रदर्शन पर बैठे लोगों का कहना हैं कि जब तक सरकार सीएए-एनआरसी वापस नहीं लेती तबतक प्रगर्शन जारी रहेगा। 47 दिनों से चल रहे प्रदर्शन के कारण लोगों का काफी परेशान हो रही हैं। रास्ते में लंबा जाम लगता हैं, अस्पताल जाने वाले मरीजों को भी काफी दिक्कत का समना करना पड़ रहा हैं। हाल ही में मीडिया जब शाहिन बाग कवरेज करने के लिए गयी तो प्रदर्शनकारियों ने रिपोर्टर के साथ मारपीट भी की।