ALL political social Entertainment health tourism crime religious Sports National Other State
हर जनपद में कौशल विकास और सेवायोजन के माध्यम से रोजगार मेले लगा रहे हैं : डा. धन सिंह रावत
February 21, 2020 • Geeta Bisht & Dr. Naresh Kumar Choubey • social

सूचना/पौड़ी/दिनांक 20 फरवरी, 2020
प्रदेश के सहकारिता, प्रोटोकाॅल तथा उच्च शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा. धन सिंह रावत ने आज सेवायोजन के तत्वाधान में जीएनटीआई मैदान श्रीनगर गढ़वाल में आयोजित रोजगार मेला-2020 में बतौर मुख्य अतिथि के रूप मं पहंचकर दीप प्रज्जवलित कर मेले का शुभारम किया। उन्होंने कहा कि आज चार जनपदों के हजारों युवाओं और रोजगार उपलब्ध कराने वाली 35 कम्पनियां इस रोजगार मेले में आये हुए है। कहा कि राज्य सरकार ने बेरोजगार नौजवानों के लिए बहुत से अवसर दिये है। कहा कि हम वर्ष 2020 को रोजगार वर्ष के रूप में मना रहे है और सरकारी नौकरियों में भी लगभग 29 हजार वैकेंसी निकाल रहे है। कहा कि उनके द्वारा उच्च शिक्षा विभाग में ही 12 सौ नौकरियां निकाली है। उन्होंने प्रदेश के मा. मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत और प्रदेश के वन एवं पर्यावरण, श्रम, सेवायोजन, कौशल विकास, आयुष एवं आयुष शिक्षा मंत्री डा. हरक सिंह रावत का अभार व्यक्त करते हुए कहा ऐसे युवा जो सरकारी नौकरियों या उच्च पदों पर नहीं जा पाते हैं उनके लिए हर जनपद में कौशल विकास और सेवायोजन के माध्यम से रोजगार मेले लगा रहे हैं। कहा कि होमस्टे योजना लांच होने के समय पूरे प्रदेश में 05 हजार होम स्टे बनाने का लक्ष्य रखा गया था, जिसके सापेक्ष अभी तक 26 सौ होम स्टे बन चुके हैं, जिनमें युवा लाखों रूपये कमा रहे हैं। कहा कि प्रदेश के युवा सोलर ऊर्जा में 01 मेगावाट से 20 मेगावाट तक लगा सकते हैं, इसमें 30 प्रतिशत सब्सिडी है और बैंको से लोन लेने पर 05 प्रतिशत की छूट दी जा रही है, जिसमें हजारों लोग काम कर रहे हैं। कहा कि डेरी सेक्टर में भी पूरे प्रदेश में 20 हजार दुधारू गाय बांट रहे है, जिसमें सामान्य वर्ग के लिए 25 प्रतिशत जबकि अनुसूचित जाति/जनजाति के लिए 32 प्रतिशत का डिस्कांउट रखा गया है। इसके साथ ही चारे के लिए भाड़ा प्रदेश सरकार देगी। वहीं कृषि, उद्य़ान के क्षेत्र मंे कलस्टर बनाकर कार्य किये जा रहे, जिसमें बाजार की सुविधा भी मुहैया कराई जायेगी, पौड़ी में ही लगभग एक हजार कृषि अधारित कलस्टर बनाये गये हैं। कहा कि आईटीआई और एनआईटी के पास ही हैलीपैड भी जल्द ही बनाया जायेगा। इसके साथ ही जल्द ही श्रीनगर और पौड़ी की 02 लाख जनता को साफ जल भी मिल जायेगा।
उच्च शिक्षा मंत्री डाॅ. रावत ने कहा कि सरकार जनता के द्वार कार्यक्रम के तहत उनके द्वारा लगभग 47 गांवों का दौरा कर ग्रामीणों की समस्याओं की जानकारी ली। कहा कि राज्य सरकार द्वारा मातृ वन्दना योजना का शुभारम्भ किया गया है, जिसके तहत गर्भवती स्त्री को पहले तीन माह गर्भधारण में एक हजार, अगले छः माह में दो हजार तथा जब बच्चा 21 दिन का होगा तब दो हजार दिया जायेगा। इस योजना का लाभ सभी गर्भवती महिलाओं को लेना चाहिए। कहा कि श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिक का कार्ड बनने के बाद उसके लड़का/लड़की की उच्च शिक्षा के लिए राज्य/केन्द्र सरकार खर्चा वहन करेगी। उन्होंने निकट भविष्य में एक-एक रोजगार मेला पाबौं एवं थलीसैंण में आयोजित करने को कहा। कहा कि थलीसैंण एक ऐसा ब्लाॅक है, जिसमें पलायन बहुत कम हुआ है, इसलिए जिन क्षेत्रों मंे पलायन नहीं हुआ है, उस क्षेत्र में अच्छा कार्य कर सकते है। उन्होंने जनपद पौड़ी, चमोली, टिहरी और रूद्रप्रयाग से आये रोजगार मेले में रोजगार प्राप्त करने वाले युवाओं को शुभकामना दी।
जिलाधिकारी धीराज सिंह गब्र्याल ने सभी मंचासीन गणमान्य व्यक्तियों एवं रोजगार में मेले में आये जनपद पौड़ी, चमोली, टिहरी और रूद्रप्रयाग के आवेदकों का स्वागत करते हुए कहा कि पर्वतीय क्षेत्र में आज पहली बार श्रीनगर गढ़वाल में रोजगार मेला आयोजित हो रहा है। कहा कि आज हर्ष का विषय है कि जनपद मंे पहली बार रोजगार मेला आयोजित किया जा रहा है, जिसमंे चार जनपदों से प्रशिक्षित युवाओं ने रोजगार के लिए आवेदन किया है। कहा कि इस रोजगार मेले को सफल बनाने हेतु लगभग 35 कम्पनियां प्रतिभाग कर रही है, जिनसे लगभग 02 हजारों योग्य लोगों को रोजगार मिल सकता है। कहा कि लगभग सात-आठ सौ आवेदक रोजगार मेले में पहंुचे है, जिनमें से लगभग साढ़े चार सौ लोगों ने अपना रजिस्ट्रेशन किया हुआ है, जबकि सवा सौ लोगों ने आॅनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया हुआ है। उन्होंने रोजगार मेले में आये युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के परिपेक्ष्य में देखा जाय तो सरकारी संस्थानों में रोजगार के अवसर बहुत कम है इसलिए राज्य सरकार स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए यथा कृषि, पर्यटन, उद्यानीकरण आदि विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के अवसर उपलब्ध करा रही है, जिनका लाभ सभी को उठाना चाहिए।
इस अवसर पर राज्य सिंचाई सलाहकार समिति के उपाध्यक्ष अतर सिंह असवाल, भाजपा जिलाध्यक्ष संपत सिंह रावत, सहकारिता उपाध्यक्ष, मातबर सिंह रावत, मंडल अध्यक्ष गिरीश पैन्यूली, जय सिंह भण्डारी, हरेन्द्र पाल सिंह नेगी, निदेशक सेवायोजन/श्रम जीवन सिंह नगन्याल, ए.डी. अजय सिंह, जिला विकास अधिकारी वेद प्रकाश, एपीडी सुनील कुमार, उपजिलाधिकारी श्रीनगर दीपेन्द्र सिंह, सेवायोजन अधिकारी पौड़ी मुकेश रयाल, रूद्रप्रयाग कपिल पाण्डेय, टिहरी विक्रम दास सहित संबंधित अधिकारी/कर्मचारी एवं प्रेस मीडिया उपस्थित था।