ALL political social Entertainment health tourism crime religious Sports National Other State
छत्तीसगढ़ में स्वतंत्रता दिवस पर होगा कोरोना योद्धाओं का सम्मान, मुख्यमंत्री 9 बजे करेंगे ध्वजारोहण
August 14, 2020 • Geeta Bisht & Dr. Naresh Kumar Choubey • political

रायपुर। छत्तीसगढ़ में स्वतंत्रता दिवस समारोह की तैयारी पूरी कर ली गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल राजधानी रायपुर में ध्वजारोहण करेंगे तथा इस दौरान कोरोना योद्धाओं का सम्मान करेंगे। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री बघेल स्वतंत्रता दिवस पर शनिवार को राजधानी रायपुर के पुलिस परेड मैदान में आयोजित मुख्य समारोह में सुबह नौ बजे ध्वजारोहण करेंगे। इसके साथ तिरंगे को राष्ट्रीय धुन और गार्ड ऑफ ऑनर द्वारा सलामी दी जाएगी। इसके बाद मुख्यमंत्री राज्य की जनता के नाम संदेश देंगे। अधिकारियों ने बताया कि कार्यक्रम में मुख्यमंत्री राज्य के कोरोना योद्धाओं-चिकित्सकों, चिकित्साकर्मियों, पुलिसकर्मियों, सफाई कर्मचारियों तथा अन्य लोगों का सम्मान करेंगे। 

 

उन्होंने बाताया कि स्वतंत्रता दिवस का मुख्य समारोह सुबह नौ बजे से 9.30 बजे तक आयोजित होगा। कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए आमंत्रितों को मास्क लगाकर आने के लिए कहा गया है। राज्य के जिला मुख्यालयों में होने वाले स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रमों में भी कोरोना योद्धाओं का सम्मान किया जाएगा। अधिकारियों ने बताया कि इस वर्ष राजधानी रायपुर और जिला मुख्यालयों में ही स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम होंगे। कार्यक्रम में आने वाले सभी व्यक्तियों को मास्क पहनना होगा और सामाजिक दूरी का पालन करना होगा। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होंगे।

उन्होंने बताया कि जनपद पंचायत और तहसील स्तर पर सार्वजनिक समारोह आयोजित नहीं होंगे। जनपद पंचायत कार्यालयों में जनपद पंचायत अध्यक्ष और नगरीय निकायों में महापौर या अध्यक्षों द्वारा ध्वजारोहण किया जाएगा। वहीं पंचायत मुख्यालयों में सरपंच द्वारा तथा बड़े गांवों में गांवों के मुखिया द्वारा ध्वजारोहण किया जाएगा। इस दौरान स्कूली छात्र-छात्राओं को एकत्र नहीं किया जाएगा। अतिथि भी सीमित संख्या में आमंत्रित होंगे। इधर, राज्य में स्वतंत्रता दिवस समारोह को ध्यान में रखते हुए नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। 

बस्तर क्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक सुंदरराज पी ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में गस्त बढ़ा दी गई है तथा अन्य राज्यों से लगने वाली सीमावर्ती क्षेत्रों में सुरक्षा बलों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है। सुंदरराज ने कहा कि बस्तर क्षेत्र में स्वतंत्रता दिवस के सामारोह शांतिपूर्ण तरीके से हो इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। सुरक्षा बल के जवान लगातार गस्त पर हैं तथा संदिग्ध लोगों पर नजर रखी जा रही है। राज्य के दक्षिण में स्थित बस्तर क्षेत्र के सभी सात जिले बस्तर, कांकेर, कोंडागांव, नारायणपुर, बीजापुर, दंतेवाड़ा और सुकमा नक्सल प्रभावित हैं।