ALL political social Entertainment health tourism crime religious Sports National Other State
CAA से भड़की आग, जाफराबाद और मौजपुर में हुई बेकाबू
February 24, 2020 • Geeta Bisht & Dr. Naresh Kumar Choubey • crime

दिल्ली । जाफराबाद में प्रदर्शन कर रही हिंसक भीड़ ने उग्र रुख अख्तियार कर लिया है। प्रदर्शनकारी पुलिस पर पथराव कर रहे हैं। इस हिंसक प्रदर्शन के बीच एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई। जाफराबाद में प्रदर्शनकारियों ने कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया। दिल्ली पुलिस के ज्वाइंट कमिश्नर ने कमान संभालते हुए प्रदर्शनकारियों को समझाने की बहुत कोशिश की लेकिन जब वह नहीं माने तो पुलिसकर्मियों को मजबूरन आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। सोमवार को सुबह से ही जाफराबाद इलाके में भारी पुलिस बल तैनात है। प्रदर्शनकारियों पर पुलिस काबू पाने की कोशिश में  लगी है लेकिन प्रदर्शनकारी आगजनी पर उतर आए हैं।

 
दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लगाई गुहार 
 
अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए जाफराबाद मौजपुर, चांदबाद व करावल नगर इलाके में जारी हिंसक प्रदर्शन पर केंद्र सरकार से गुहार लगाते हुए मांग की और कहा- केंद्रीय गृहमंत्री और एलजी दिल्ली की कानून व्यवस्था को बहाल करने का प्रयास जल्द करें। 
दिल्ली के यमुना पार के कई इलाकों में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ लगातार प्रदर्शन जारी है, इस प्रदर्शन में अब इस कानून के समर्थक और इस कानून का विरोध करने वाले आमने सामने आ चुके हैं। जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे मुस्लिम महिलाएं लगातार धरने पर बैठी हुई हैं, वहीं मौजपुर शनि मंदिर के पास सीएए के समर्थक धरना दे रहे हैं। 
बीते दिनों रह-रहकर कई बार जाफराबाद के प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच पथराव हुआ। जिसमें पुलिस को कई बार आंसू गैस के गोले भी छोड़ने पड़े लेकिन सोमवार को सुबह से ही जाफराबाद के प्रदर्शनकारी हिंसक नजर आए। प्रदर्शनकारियों ने हिंसक रुख अख्तियार करते हुए कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया। बताया जा रहा है, कई घरों को भी आग लगा दी गई।शनिवार की देर रात से शुरू हुआ प्रदर्शन कैसे हुआ उग्र
शनिवार रात करीब 11:00 बजे नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में लगभग 500 मुस्लिम महिलाओं ने जाफराबाद के मुख्य रोड को बंद करने का प्रयास किया था ये क्रम रविवार को भी जारी रहा। लेकिन इस प्रदर्शन से खफा होकर इस कानून के समर्थक भी रविवार करीब 3.30 बजे सड़क पर आ गए। CAA के समर्थकों ने मांग करते हुए सड़क जाम करते हुए कहा जब तक कानून का विरोध करने वाले सड़क से नहीं हटेंगे तब तक सड़क को जाम रखा जाएगा। पुलिस ने हालात पर काबू पाने की कोशिश की। लेकिन शाम 4:00 बजे के करीब दोनों गुटों के बीच पथराव शुरू हो गया।